राज्य

राजस्थान में आचार संहिता के दौरान जब्ती का आंकड़ा 784 करोड़

जयपुर/जोधपुर.

लोकसभा चुनावों के मद्देनजर आचार संहिता लगने के बाद से की जा रही निगरानी के तहत 16 मार्च 20 अप्रैल के बीच प्रदेश में अलग-अलग निगरानी एवं सतर्कता एजेंसियों ने करीब 784 करोड़ रुपये मूल्य से अधिक की अवैध शराब, नशीली दवाएं और नकद राशि जब्त की है। चुनावों को धन-बल, नशे तथा मुफ्त वस्तुओं के प्रलोभन से दूर रखने के उद्देश्य से अवैध वस्तुओं के परिवहन और भंडारण पर यह धरपकड़ की जा रही है। इस अवधि में सर्वाधिक 37 करोड़ रुपये से अधिक की जब्ती अकेले चूरू जिले में हुई है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण गुप्ता ने बताया कि प्रदेश में आदर्श आचार संहिता के प्रभावी होने के बाद से 784.73 करोड़ रुपये मूल्य की अवैध नकद राशि, नशीली दवाएं (ड्रग्स), शराब, कीमती धातुएं तथा मुफ्त वितरण की जाने वाली वस्तुओं (फ्रीबीज) आदि की जब्ती की गई है। इस अवधि में अलग-अलग एनफोर्समेंट एजेंसियों ने 7 जिलों में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की वस्तुएं पकड़ी हैं। अब तक सर्वाधिक जब्तियां चूरू जिले में हुई हैं, जिनमें 37.06 करोड़ रुपये मूल्य की वस्तुएं शामिल हैं। गुप्ता के अनुसार 16 मार्च से 20 अप्रैल तक पाली, डूंगरपुर, दौसा, उदयपुर, झुंझुनू और गंगानगर जिलों में विभिन्न स्थानों से क्रमश: 36.48 करोड़, 36.35 करोड़, 34.03 करोड़, 33.41 करोड़, 30.17 करोड़ और 30.02 करोड़ रुपये मूल्य की अवैध वस्तुएं या नकद राशि जब्त हुई है। इसी क्रम में भीलवाड़ा, बाड़मेर, जयपुर, जोधपुर, चित्तौड़गढ़, बीकानेर, अलवर, बांसवाड़ा, नागौर, हनुमानगढ़, टोंक, प्रतापगढ़ और राजसमंद जिलों में भी 20 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की वस्तुएं जब्त की गई हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पकड़ी गई सामग्री में 38.23 करोड़ रुपये की अवैध नकद राशि के साथ ही 83.37 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की नशीली दवाएं और 37.73 करोड़ रुपये से अधिक कीमत की अवैध शराब शामिल है। साथ ही लगभग 42.82 करोड़ रुपये मूल्य की सोना-चांदी आदि कीमती धातुएं, लगभग 582 करोड़ रुपये मूल्य की अन्य सामग्री तथा 74 लाख रुपये से अधिक कीमत की मुफ्त वितरण की वस्तुएं (फ्रीबीज) भी जब्त की गई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button