लाइफ स्टाइल

श्वसन संक्रमण को रोकें और इलाज करें: टिप्स और सुझाव

सांस से जुड़ा संक्रमण कई बार बहुत ज्यादा परेशान करते हैं। यह वायरस या बैक्टीरिया जैसे कीटाणुओं के कारण होता है, जिससे सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। यह आपके श्वास तंत्र के ऊपरी हिस्से को प्रभावित करता है, जैसे कि नाक और गले या फेफड़े का निचला हिस्सा। यह संक्रमण साइनस या वोकल कॉर्ड जैसी जगहों पर भी हो सकता है।

नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ हेल्थ के अनुसार सांस से संबंधित संक्रमण बच्चों और बुजुर्गों के लिए बहुत गंभीर है। जिन लोगों की इम्यूनिटी बहुत कमजोर होती है, उनमें सांस से संबंधित संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है। जानिए कैसे रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन से खुद का बचाव कैसे करें।

कॉमन कोल्ड

कॉमन कोल्ड एक आम इंफेक्शन माना जाता है, लेकिन यह परेशान बहुत करता है। यह एक से दूसरे में तेजी से फैलने वाला इंफेक्शन है। लोगों को मौसम बदलने पर जुकाम की अधिक समस्या होती है। कॉमन कोल्ड गंभीर इंफेक्शन न बने, इसके लिए आप स्टीम लेते रहें। यह सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। साथ ही कफ सिरप और नोजल स्प्रे भी डॉक्टर की सलाह अनुसार ले सकते हैं।

ब्रोंकाइटिस

ब्रोंकाइटिस की समस्या फ्लू या संक्रमण के कारण होती है। इसके लक्षणों में सांस लेने में दिक्कत और सांस फूलना भी शामिल है। इस बीमारी के लक्षण दो से तीन सप्ताह तक बने रह सकते हैं। इसके लक्षण नजर आने पर आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। इस पर घरेलू उपचार केवल सहयोग कर सकते हैं, लेकिन सही इलाज के लिए डॉक्टर की दवा जरूरी है।

साइनोसाइटिस

साइनोसाइटिस की समस्या बैक्टीरिया का संक्रमण है, जो साइनस ब्लॉकेज की समस्या से होती है। इसमें 7 से 21 दिनों तक बीमारी के लक्षण नजर आ सकते हैं। इसमें कुछ घरेलू उपचार बहुत काम आते हैं, जैसे कि हल्दी, गर्म दूध और शहद का मिक्सचर लेने से साइनस में आराम मिल सकता है।

फैरिन्जाइटिस

4 imageकॉमन कोल्ड या फ्लू फैरिन्जाइटिस का कारण बन सकता है। इस समस्या के कारण गले में खराश, मसल्स पेन, खाना खाने में दिक्कत और लिम्फ नोड्स में सूजन की समस्या हो सकती है। इसमें भी कच्ची हल्दी वाला दूध बहुत आराम देता है। साथ ही आप अजवाइन को रोस्ट कर के, उसकी कपड़े में पोटली बनाकर उसे स्टीम की तरह लें और चेहरे की सिकाई भी करें। आपको बहुत जल्दी आराम मिलेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button