व्यापार

टेस्ला और रिलायंस एक ज्वाइंट इलेक्ट्रिक व्हीकल वेंचर का बना रहे प्लान

मुंबई
भारतीय बाजार में अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी Tesla को लेकर लगातार नए अपडेट्स सामने आ रहे हैं. बीते दिनों ख़बर आई थी कि टेस्ला भारत में अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट (Tesla Factory) लगाने के लिए जमीन तलाश रही है और इसके लिए कंपनी इसी महीने एक टीम भी भेजने वाली है. अब ख़बर आ रही है दो दिग्गज (टेस्ला और रिलायंस) हाथ मिलाने वाले हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो Elon Musk की टेस्ला और Mukesh Ambani की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड एक साथ मिलकर भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की योजना पर बीतचीत कर रही हैं.
 

एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि, टेस्ला और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड एक ज्वाइंट वेंचर पर विचार कर रहे हैं. इस मामले में बातचीत शुरुआती दौर में है और यदि सबकुछ ठीक रहा तो दोनों कंपनियां संयुक्त रूप से भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की योजना पर काम कर सकती हैं. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि, हालांकि, बातचीत अभी शुरुआती चरण में है और एक महीने से अधिक समय से चल रही है.

क्या ऑटो सेक्टर में उतरेगा रिलायंस?

इस रिपोर्ट में जिस व्यक्ति की बातचीत को आधार बनाया गया है उसके अनुसार इसे रिलायंस की ऑटो सेक्टर में एंट्री नहीं समझा जाना चाहिए. हालांकि अभी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की भूमिका अभी तक स्पष्ट नहीं हुई है, लेकिन रिलायंस भारत में टेस्ला के लिए प्लांट लगाने के मामले एक बेहतर इकोसिस्टम तैयार करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है.

भारत के लिए Tesla का प्लान:

Tesla ने कथित तौर पर भारत में अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए 2 बिलियन डॉलर का निवेश करने की योजना बनाई है. जिसमें गुजरात और महाराष्ट्र सहित कुछ राज्य टेस्ला के प्लांट के लिए रेस में है. हालाँकि महाराष्ट्र अपनी बंदरगाह सुविधाओं के कारण पसंदीदा स्थान के रूप में उभर सकता है, लेकिन अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है.

रिपोर्ट में आगे संकेत दिया गया है कि प्लांट के लोकेशन को अंतिम रूप देने और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के साथ संभावित ज्वाइंट वेंचर पर चर्चा करने के लिए टेस्ला के वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम जल्द ही भारत दौरा कर सकती है.

अब तक क्या है अपडेट:

Tesla की इंडिया एंट्री का इंतज़ार लंबे समय से हो रहा है और बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिकी दौरे पर टेस्ला के सीईओ एलन मस्क और पीएम मोदी की मुलाकात ने इस चर्चा को और भी हवा दी थी. कुछ दिनों पहले फाइनेंशियल टाइम्स (FT) की रिपोर्ट में कहा गया कि, टेस्ला इस महीने भारत में एक टीम भेजने की योजना बना रहा है. ये टीम यहां पर कंपनी के फैक्ट्री के लिए जमीन तलाशने का काम करेगी.

हाल ही में भारत सरकार ने देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रोडक्शन को बढ़ावा देने के लिए एक नई पॉलिसी तैयार किया था. जिसके तहत भारत ने कम से कम 500 मिलियन डॉलर का निवेश करने और लोकल मैन्युफैक्चरिंग करने वाली कंपनियों को इंपोर्ट ड्यूटी में रियायत दी जाएगी. भारत सरकार के इस नीतिगत बदलाव ने टेस्ला को भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की योजना पर गंभीरता से विचार करने के लिए प्रोत्साहित किया है.

Tesla अपने इस नए प्लांट के लोकेशन पर सावधानीपूर्वक विचार कर रही है. हालांकि अभी कोई जगह फाइनल नहीं हुई है, लेकिन टेस्ला प्लांट (Tesla Factory) के लिए संभावित लिस्ट में महाराष्ट्र, गुजरात और तमिलनाडु जैसे ऑटोमोटिव हब वाले राज्यों पर फोकस किया जा सकता है.
 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button