लाइफ स्टाइल

पास्ता खाने का सही तरीका: ओबेसिटी और मधुमेह को कैसे रोकें

लंबे समय से पास्ता दुनिया भर में डाइनिंग टेबल पर सजने वाली डिश बनी हुई है। भारत में इसे मूड के अलावा गेस्ट के लिए भी बनाया जाता है। यह काफी टेस्टी और कंफर्टेबल फूड है। मगर जितना यह मशहूर है उतना ही बदनाम माना जाता है। इसे मोटापे और डायबिटीज जैसी बीमारियों की जड़ माना जाता है। जिसके पीछे अक्सर इसकी कार्ब्स की मात्रा को जिम्मेदार ठहराया जाता है।

लेकिन क्या पास्ता उतना ही खराब है जितना हमें बताया जाता है? या फिर खराब हमारा खाने का तरीका है जिसे बदला जा सकता है। इस आर्टिकल में कुछ ऐसी बातों पर बात की गई है जिनके बारे में कोई चर्चा नहीं करता। पास्ता को बिना किसी दिक्कत के खाया जा सकता है आइए जानते हैं कैसे?

पास्ता अनहेल्दी है या नहीं?

पास्ता से कार्बोहाइड्रेट बड़ी मात्रा में मिलते हैं, इसलिए कई लोग इसे अनहेल्दी करार दे देते हैं। जबकि पास्ता को एक बैलेंस्ड डाइट में शामिल किया जा सकता है। संतुलित मात्रा में पास्ता खाने से वेट गेन होने की जगह फैट और शुगर के लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। इसलिए अब वो वक्त आ गया है कि पास्ता को अनहेल्दी मानना बंद करके इसकी न्यूट्रिशनल वैल्यू के बारे में भी बात की जाए।

पास्ता में मौजूद पोषण

पास्ता में मौजूद पोषण को जानकर सही डाइट का चुनाव किया जा सकता है। व्हाइट ब्रेड से बना पास्ता सबसे पुराना है जो कि कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का मिक्सचर देता है। बाजार में इसके ऑप्शन में साबुत गेहूं और चना जैसे अनाजों से बना पास्ता भी उतारा गया है जो कई सारे पोषक तत्व देता है। अपना चुनाव करते हुए आप टेस्ट, न्यूट्रिशन आदि के बारे में जरूर सोच लीजिए।

पास्ता खाने का सही और हेल्दी तरीका

बैलेंस्ड डाइट में पास्ता शामिल करने का सबसे हेल्दी तरीका उसे रेसिपी और पोर्शन कंट्रोल है। संतुलित मात्रा में पास्ता आराम से खाया जा सकता है और इसे बनाते हुए फाइबर देने वाली सब्जियां, लीन प्रोटीन आदि को जोड़ा जा सकता है। इससे आपका हेल्दी पास्ता भूख और टेस्ट की तृप्ति करने के साथ पोषण भी देगा।

संयम से करें सेवन

पास्ता खाने में मजा आता है लेकिन इसके साथ संयम ना भूल जाएं। थाली से पास्ता बिल्कुल हटाने की जगह हेल्दी सब्जियों से बना पास्ता डिसिप्लिन के साथ खाएं। यह आपको अफसोस और बीमारियों से दूर रखते हुए खाना एंजॉय करने में मदद करेगा।

अंग्रेजी में इस स्‍टोरी को पढ़ने के लिए यहां क्‍लिक करें।
डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button