भोपालमध्य प्रदेश

कौशल विकास एवं रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) टेटवाल ने की समीक्षा

  • सिर्फ बिल्डिंग बनाना नहीं रोजगारमूलक प्रशिक्षण देना है मुख्य उद्देश्य
  • कौशल विकास एवं रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) टेटवाल ने की समीक्षा
  • राज्यमंत्री टेटवाल ने कहा एक टीम के रूप में कार्य कर विभागीय योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों तक पहुँचाना सुनिश्चित करें

भोपाल

सिर्फ बिल्डिंग बनाना नहीं रोजगारमूलक प्रशिक्षण देना है विभाग का मुख्य उद्देश्य। कौशल विकास एवं रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गौतम टेटवाल ने यह बात विभागीय योजनाओं की समीक्षा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि एक टीम के रूप में कार्य कर विभागीय योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों तक पहुँचाना सुनिश्चित करें।

टेटवाल ने कहा कि संत शिरोमणि रविदास ग्लोबल स्किल्स पार्क एवं 10 संभागीय आईटीआई का निर्माण कार्य तय समय-सीमा में पूरा करें। वर्तमान एजेंसी द्वारा कार्य समय से नहीं करने पर दूसरी एजेंसी को कार्य देने पर विचार करें। विश्वकर्मा योजना का सरलीकरण करें, जिससे अधिक से अधिक हितग्राही इसका लाभ उठा सकें। टेटवाल ने विभागीय संरचना की समीक्षा करते हुए कहा कि रिक्त पदों की भर्ती जल्द करें।

स्किल, स्केल और स्पीड तर्ज पर काम करें

टेटवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तीन एसएसएस के सूत्र स्किल, स्केल और स्पीड की तर्ज पर विभाग काम करे, जिससे स्किल इंडिया मिशन में मध्यप्रदेश की महत्वपूर्ण भूमिका बने। मध्यप्रदेश को स्किल इंडिया के हब के रूप में विकसित करना है। विभाग के कार्यों को गति देने के लिये जहाँ से भी तकनीकी सहयोग मिल सकता है, उसे लेने के लिये कार्ययोजना बनाएँ।

बैठक में अपर मुख्य सचिव तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार मनु श्रीवास्तव ने विभागीय योजनाओं की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया। इस दौरान विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button