लंदन । इंग्लैंड में जारी एशेज क्रिकेट सीरीज के दूसरे टेस्ट में पहली बार किसी सब्सिट्यूट खिलाड़ी को बल्लेबाजी का अवसर मिला है। आईसीसी के नये नियम के अनुसार अब सब्सिट्यूट खिलाड़ी भी बल्लेबाजी और गेंदबाजी कर सकता है। आस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ पहली पारी में चोटिल हो गए तो उनके स्थान पर युवा खिलाड़ी मार्नस लाबुशेन को उतारा गया। लाबुशेन ने इस अवसर का लाभ उठाते हुए 59 रन बनाये।  स्मिथ युवा तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर की गेंद पर घायल हो गए थे। स्मिथ ने उसके बाद बल्लेबाजी तो की पर अंतिम दिन सुबह चक्कर और सिर दर्द के कारण वह मैच से बाहर हो गये
आईसीसी के नये नियम के अनुसार अगर किसी खिलाड़ी को सिर या गर्दन में चोट लगती है तो उसके स्थान पर किसी दूसरे खिलाड़ी को मौका दिया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया ने 5वें दिन की सुबह मैच रेफरी रंजन मदुगले से स्मिथ की जगह  लाबुशेन को टीम में शामिल करने की बात कही, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। अब तक के नियमों के अनुसार चोटिल खिलाड़ी की जगह मैदान में उतरने वाला सब्सिट्यूट खिलाड़ी केवल क्षेत्ररक्षण ही कर सकता था, पर अब वह मैच में पूर्ण रूप से भाग ले सकता है। टेस्ट इतिहास में यह पहला मौका है जब कोई खिलाड़ी किसी टेस्ट मैच के बीच में बतौर सबस्टीट्यूट प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया।