जीवन में सभी लोग सुख और सुविधाएं चाहते हैं और उसके लिए सभी प्रयास करते हैं। कई बार घर में सब कुछ ठीक होने के बावजूद कुछ ठीक नहीं होता। मन और घर में नकारात्‍मक ऊर्जा रहती है। इसके पीछे कई बार घर के मुख्‍य से जुड़े वास्‍तु दोष होते हैं। इसलिए वास्तु की मान्यता के अनुसार यह जरूरी है कि आपके घर का प्रवेश द्वारा वास्‍तु के अनुरूप हो ताकी नकारात्‍मक ऊर्जा घर में प्रवेश ही न कर सके।
आपके घर का मुख्‍य द्वार वास्‍तु की नजर से बेहद अहम है1 जिस तरह इसी दरवाजे से अच्‍छे और बुरे लोग आपके घर में आते हैं। ठीक उसी तरह इसी दरवाजे से सकारात्‍मक और नकारात्‍मक ऊर्जा भी प्रवेश करती है। अक्‍सर घर में सब कुछ ठीक होने के बावजूद कुछ ठीक नहीं होता। मन और घर में नकारात्‍मक ऊर्जा रहती है. इसके पीछे कई बार घर के मुख्‍य से जुड़े वास्‍तु दोष। इसलिए वास्तु की मान्यता के अनुसार यह जरूरी है कि आपके घर का प्रवेश द्वारा वास्‍तु के अनुरूप हो ताकी नकारात्‍मक ऊर्जा घर में प्रवेश ही न कर सके।
क्‍या करें क्‍या न करें
घर के बाहर रोशनी का इंतजाम जरूर करें। भले ही बल्ब या ट्यूबलाइट लगाएं, पर अंधेरा होते ही उसे जला कर रखें।
अक्‍सर हम सभी घर के बाहर नेमप्लेट लगाते हैं और उसे लगा कर भूल जाते हैं। ऐसी गलती न करें। वास्‍तु के अनुसार नेमप्लेट जितनी साफ और चमकदार होगी नकारात्मक ऊर्जा आपके घर से उतनी ही दूर रहेगी।
अगर आपके घर के बाहर भी शू रैग, साइकिल, स्‍कूटर, कार वगैरह रखे या पार्क होते हैं, तो कोशिश करें कि ये मेन डोर से हट कर हों।
मुख्‍य द्वार के वास्‍तु दोष
वास्‍तु के अनुसार घर के मुख्य द्वार के सामने किसी दीवार, पेड या किसी भी तरह की छाया नहीं होनी चाहिए।
कई बार सब कुछ ठीक होने के बावजूद वास्‍तु दोष के कारण परेशानियां सामने आती हैं। इसी तरह मुख्य द्वार अगर घर के बीचों-बीच होता है तो कलह का संकेत है1
कई बार हम सजावाट के लिए घर के बाहर या मुख्य द्वार पर किसी तरह की बेल-पौधे लगा लेते हैं, जोकि वास्‍तु के अनुसार ठीक नहीं है।
वास्‍तु के हिसाब से घर का मेन डोर खोलते ही सामने सीढ़ी नहीं होनी चाहिए. इस बात का भी ध्‍यान रखें कि मेन डोर हमेशा अंदर की तरफ खुलने वाला होना चाहिए।
वास्‍तु के सरल उपाय
याद हो तो पुराने जमाने में घर के मुख्‍य द्वार को झालरों से सजाया जाता था। यह घर की खूबसूरती के साथ ही वास्‍तु के हिसाब से भी अच्‍छा है। ऐसा करने से घर में नकारात्‍मक ऊर्जा नहीं आती।
मेन डोर के बाहरी ओर दीवार पर पाकुआ दर्पण स्थापित करें।
आप चाहें तो नकारात्‍मक ऊर्जा को दूर करने के लिए विंड बेल्‍स लगाएं1
मुख्य द्वार पर क्रिस्टल बॉल लटकाएं। इसके अलावा आप मेन डोर पर लाल रंग का फीता बांधने से भी घर में नकारात्‍मक ऊर्जा प्रवेश नहीं कर पाती। घर का मुख्‍य द्वार खोलते ही सीढ़ी नहीं होनी चाहिए, अगर ऐसा है, तो फिर उन पर पर्दा डाल कर नकारात्‍मक ऊर्जा को दूर किया जा सकता है।